स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत अभियान की उड़ा रहा है नगर पालिका प्रबंधन
December 22, 2019 • योगेश गौड़

खस्ता हालत और गंदगी से पटे पड़े हैं नगर के कई शौचालय
मोदीनगर (योगेश गौड़) नगर पालिका मोदीनगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बहुचर्चित स्वच्छ भारत तथा स्वच्छ शौचालयों की खिल्ली उड़ा रही है। नगर पालिका परिषद की अनदेखी के चलते पालिका द्वारा निर्मित नगर के ज्यादातर सार्वजनिक शौचालय  ना सिर्फ गंदगी से अटे पड़े हैं, बल्कि अपनी खस्ता हालत पर आंसू बहा रहे हैं, लेकिन नगरपालिका परिषद इन खस्ताहाल और गंदगी से पटे पड़े शौचालयों की सुध लेने को तैयार नहीं है। नगर पालिका द्वारा की जा रही इन सार्वजनिक शौचालयों की नियमित सफाई एवं मरम्मत के प्रति अनदेखी और लापरवाही का खामियाजा आमजन को उठाना पड़ रहा है। इन खस्ताहाल और गंदगी से भरपूर शौचालयों की वजह से सबसे ज्यादा परेशानियों का सामना महिलाओं को करना पड़ रहा है, क्योंकि गंदगी फैली होने के चलते महिलाएं जरूरत पड़ने पर इनका इस्तेमाल नहीं कर पा रही। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की थी साथ ही उन्होंने देशभर में लाखों शौचालयों का निर्माण इसलिए कराया था, ताकि लोग खुले में शौच आदि मैं जाकर इन शौचालयों का इस्तेमाल कर सकें जिससे इधर-उधर गंदगी तो फैले  ही नहीं, साथ ही आमजन खुले में शौच आदि करने से होने वाली बीमारियों से भी सुरक्षित रह सकेंगे। सर्च आउट की टीम ने जब निवाड़ी रोड स्थित शौचालयों का निरीक्षण किया तो शौचालयों की हालत बेहद सोचनीय थी। निवाड़ी रोड पर स्थित शौचालयों में इनके निर्माण के दौरान लगाई गई सीटें टूटी पड़ी थी, साथ ही वहां चारों तरफ गंदगी का आलम था, जब इस संबंध में आसपास के लोगों से जानकारी ली गई तो, उन्होंने बताया कि महीनों से इस शौचालय की यही स्थिति है जिससे आसपास के लोगों को शादी के लिए भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसी ही हालत कमोबेश नगर में स्थित ज्यादातर शौचालय में देखने को मिली। पालिका द्वारा की जा रही इन सार्वजनिक शौचालयों की अनदेखी से यह तथ्य उजागर हो रहा है, कि नगर पालिका परिषद प्रबंधन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत अभियान को पलीता लगाने का प्रयास कर रहा है।