सद्भावना बैठक में डीएम तथा एसएसपी ने की शांति व्यवस्था तथा भाईचारा बनाए रखने की अपील
November 5, 2019 • अनवर ख़ान

मोदीनगर (अनवर ख़ान)। सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या मामले की सभी सुनवाई पूरी की जा चुकी है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा कभी भी इस गंभीर प्रकरण में फैसला दिया जा सकता है। और देशवासियों की निगाहें भी इस महत्वपूर्ण फैसले पर टिकी हुई है। इस फैसले के मद्देनजर तमाम ख़ुफ़िया एजेंसियों के साथ ही पुलिस-प्रशासन भी चौकन्ना हो गया है। और आमजन के साथ बैठकें करके सभी से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील कर रहे हैं। इसी कड़ी में मंगलवार को नगर पालिका सभागार में आयोजित सद्भावना बैठक में डीएम अजय शंकर पांडेय तथा एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बैठक में मौजूद सभी समुदाय के लोगों से शांति व्यवस्था तथा भाईचारा बनाए रखने की अपील की।
       जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे ने कहा की सभी धर्मों का आपस में मेलजोल तथा एक दूसरे के त्यौहारों को आपस में मिलकर मनाना जनपद गाजियाबाद की गौरवशाली परंपरा रही है। उन्होंने कहा कि अयोध्या मामले पर माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए जाने वाले निर्णय पर भी जनपद गाजियाबाद वासी इस परंपरा को कायम रखेंगे और उस निर्णय को शिरोधार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि माननीय सुप्रीम कोर्ट के इस निर्णय को शांति और सद्भाव के साथ सुनिश्चित कराने के लिए प्रशासन ने पूरी तैयारियां की हुई है जिसके चलते जनपद को 10 जोन में बांटा गया है। जिसके लिए 16 जोनल मजिस्ट्रेट तथा 58 सेक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त कर दिए गए हैं।
         एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने कहा कि माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के मद्देनजर किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए पुलिस पूरी तरह सतर्क है। पुलिस ने संवेदनशील क्षेत्रों के अलावा ऐसे लोग भी चिन्हित कर लिए हैं जिनसे किसी भी प्रकार की अशांति फैलने का खतरा हो। एसएसपी ने कहा कि माननीय सुप्रीम कोर्ट के फैसले की अवमानना अपराध की श्रेणी में आती है। जो भी व्यक्ति ऐसे कृत्यों में लिप्त पाया जाएगा उसके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाएगी। एसएसपी ने कहा कि जनपद के पुलिस कार्यालय में स्थित सोशल मीडिया सेल व्हाट्सएप, फेसबुक, टि्वटर, मैसेंजर, हाइक, इंस्टाग्राम आदि सोशल मीडिया के सभी मंचों पर नज़र रखे हुए हैं। इसलिए विवादित पोस्टों वीडियो आदि को शेयर करने से बचें। उन्होंने कहा कि यदि कोई विवादित पोस्ट या वीडियो आपके आए तो उसकी जानकारी तुरंत पुलिस को दें। ‌एसएसपी ने कहा कि मिश्रित आबादी में पुलिस खासतौर से नज़र बनाए रखें। तथा क्षेत्र के सभी धर्मों के गणमान्य व्यक्तियों के साथ लगातार कॉलोनियों में विभिन्न स्थानों पर बैठकें करते रहें और क्षेत्रवासियों से भी संवाद स्थापित कर आपस में समन्वय स्थापित कराए जाने का प्रयास करते रहे। बैठक के दौरान व्यापारी नेता अमितेज जैन द्वारा गोविंदपुरी स्थित सर्राफा तथा अन्य व्यापारियों की सुरक्षा के लिए उठाए गए सवाल पर एसएसपी ने कोतवाल जितेंद्र यादव को निर्देशित किया कि गोविंदपुरी में जहां सर्राफा व्यापारी है वहां पुलिस पिकेट की व्यवस्था की जाए तथा कोतवाल स्वयं पैदल गश्त कर व्यापारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करें। उन्होंने व्यापारियों को भी सीसीटीवी कैमरा लगाए जाने की हिदायत दी।
       बैठक में एसडीएम सौम्या पांडे, सीओ केपी मिश्रा, ईओ शिवराज सिंह, पालिकाध्यक्ष अशोक माहेश्वरी, वरिष्ठ भाजपा नेता स्वदेश जैन, हरेंद्र शर्मा, नीरज गर्ग, महेश तायल, जसमीत सिंह, अनुप्रीत कौर, डॉ केपी सिंह, प्रदीप बोस, महराम चंदेला, अनवर मलिक, बशीर अहमद, शहजादा प्रधान, शाहिद मछरी, मोहम्मद आरिफ, इमाम सिराज, सलीम अली समेत अनेक गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।