किसानों की पदयात्रा का चौथा दिन
November 2, 2019 • अनवर ख़ान

भूडबराल से आरंभ हुई किसान पदयात्रा‌ ने मेरठ कमिश्नरी पर डाला पड़ाव

मोदीनगर (अनवर ख़ान)। एक समान मुआवजा समेत अनेक मांगों को लेकर दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे से प्रभावित किसानों द्वारा निकाली जा रही पदयात्रा के चौथे दिन यह यात्रा भूडबराल से शुरू होकर मेरठ कमिश्नरी पर पहुंची। जहां पदयात्रा में शामिल दर्जनों गांवों के सैकड़ों किसानों ने कमिश्नरी पर पड़ाव डाल दिया है।
      बता दें कि दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे से प्रभावित किसान विभिन्न मांगों को लेकर किसान कल्याण समिति के बैनर तले पिछले कई हफ्तों से डीएमई पर धरनारत रहकर शासन प्रशासन से अपनी मांगों के निराकरण कराए जाने की मांग कर रहे थे। इस बीच कई बार किसानों की प्रशासन से वार्ता हुई किंतु यह वार्ता बेनतीजा रही। जिससे नाराज किसानों ने महापंचायत भी आयोजित की थी। लेकिन इसके बावजूद भी प्रशासन के कानों पर जूं नहीं रेंगी। जिसके बाद किसानों ने बुधवार को डासना से मेरठ कमिश्नरी तक के लिए पदयात्रा आरंभ कर दी। शुक्रवार को यह पदयात्रा गांव भूडबराल पहुंची तथा वहां रात्रि विश्राम किया। शनिवार को पदयात्रा में शामिल सैकड़ों किसानों ने मेरठ कमिश्नरी की ओर कूच कर दी। और शनिवार सांय यह पदयात्रा मेरठ कमिश्नरी पहुंची जहां सभी किसानों ने कमिश्नरी पर पड़ाव डाल दिया। शनिवार को पदयात्रा आरंभ होने से पूर्व गांव भूडबराल में एक सभा का आयोजन किया गया। सभा में सभी किसानों ने एक स्वर में कहा कि यदि मांगे नहीं मानी गई तो वे जेल जाने से भी पीछे नहीं हटेंगे। 
        पदयात्रा को सपा नेता अतुल प्रधान, डा यशवीर सिंह, यात्रा के संयोजक डा बबली गुर्जर व सतपाल चौधरी, सतेंद्र तोमर, अनिल गौतम, शैलेंद्र प्रधान, किसान पुत्र शेखर त्यागी, अमरजीत सिंह बिड्डी, टीकम नागर, हाजी अल्ताफ, गफ़्फ़ार ख़ान, फिरोज भाई, कपिल चौधरी, बाबू सिंह आर्य, अमरपाल प्रधान, रूपचन्द्र गौतम, सुनील प्रधान, हरिराज प्रधान, दलबीर नेता, शलेकचंद आदि ने संबोधित किया।