जीएसटी कार्यशाला में की व्यापारियों व उधमियो की समस्याओं पर चर्चा 
December 11, 2019 • योगेश गौड़

मोदीनगर (योगेश गौड़)। इंडस्ट्रीज एंड ट्रेडर्स वेलफेयर एसोसिएशन के तत्वावधान मे स्थानीय एक होटल मे जीएसटी पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमे व्यापारी व उद्यमी समाज की जीएसटी से सम्बंधित समस्याओ पर विस्तार से चर्चा की गयी।
कार्यक्रम का शुभारम्भ मा सरस्वती की चित्र के सम्मुख दीप प्रज्जवलित कर किया गया।इस अवसर पर स्टेट जीएसटी के उपायुक्त विजय झाँ, सहायक आयुक्त अंकिता रानी तथा राज्य कर अधिकारी मुकेश गुप्ता ने प्रदेश सरकार द्वारा प्रदत्त रू0 10 लाख की व्यापारी दुर्घटना बीमा योजना, केन्द्र सरकार द्वारा भविष्य मे लागू की जाने वाली व्यापारी पेन्शन योजना तथा व्यापारी हित मे सरकार द्वारा लागू अन्य योजनाओ का विस्तार से वर्णन किया। विजय झाँ ने अपंजीकृत व्यापारियो व उद्यमीयो को जीएसटी पंजीयन प्राप्त कर प्रदेश व देश की उन्नति मे भागीदारी हेतु प्रेरित किया। इस अवसर पर इटवा के राष्ट्रीय महासचिव प्रिंस कंसल ने कार्यशाला मे उपस्थित व्यापारीयो का जीएसटी पंजीयन प्राप्त करने हेतु आहवान किया तथा व्यापारीयो मे जीएसटी के प्रति उदासिनता के लिए केन्द्र व प्रदेश सरकार की नितियो को जिम्मेदार ठहराया। वही इटवा के राष्ट्रीय सलाहकार समिति सदस्य एडवोकेट अरूण राघव ने जीएसटी से सम्बंधित समस्याओ को स्टेट जीएसटी के अधिकारीयो के समक्ष रखा तथा उनके निदान हेतु कुछ सुझाव राज्य कर अधिकारीयो को दिये। इस अवसर पर बोलते हुए राघव ने केन्द्र सरकार से जीएसटी पोर्टल पर आ रही विसंगतियो को समाप्त करने की मांग की।सर्वप्रथम इटवा के राष्ट्रीय समिति सदस्य एडवोकेट अरूण राघव, अध्यक्ष हिमान्शु गुप्ता, महामंत्री भानू गुप्ता, विकास गुप्ता, संयुक्त महामंत्री जगदीश मदान, उपाध्यक्ष रूचि गुप्ता, प्रेस प्रवक्ता वर्षा गुप्ता व विधी सलाहकार सपना भूटानी ने संयुक्त रूप से उपायुक्त विजय झाँ, सहायक आयुक्त अंकिता रानी तथा राज्य कर अधिकारी मुकेश गुप्ता का शाल ओढाकर व प्रतीक चिन्ह देकर अभिनन्दन किया। कार्यक्रम का संचालन इटवा के महामंत्री भानू गुप्ता ने किया। इस अवसर पर हिमांशु गुप्ता, रूचि गुप्ता, विकास गुप्ता, अभिषेक जैन, जगदीश मदान, वर्षा गुप्ता, प्रदीप आर्य, विश्वदीप भारद्वाज, सपना भूटानी, ललीत अरोडा, प्रवीण मलिक, सोहनपाल सिंह, जितेन्द्र पाल, प्रदीप गोयल, मनीष चैधरी, राजेश गोयल, सुबोध कुमार, मनोज पान्डे उर्फ बाबा, राजकुमार शिवाच, यशवीर यादव सहित सैकडो व्यापारी व उद्यमी मौजूद रहे।