भारतीय आरक्षण मुक्ति दल के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं ने आरक्षण के विरोध में दिया जंतर मंतर पर धरना
November 14, 2019 • योगेश गौड़

अपनी मांगों को लेकर  राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन 
मोदीनगर(योगेश गौड़) भारतीय आरक्षण मुक्ति दल के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने आरक्षण का विरोध करने के लिए नई दिल्ली स्थित जंतर मंतर पर धरना प्रदर्शन किया। प्रदेश के कई जिलों से आए सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने संसद मार्ग पर आरक्षण का विरोध करते हुए पद यात्रा भी निकाली। संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष आलोक पांडे ने  आरक्षण व्यवस्था को देश की तरक्की एवं  व्यवस्था का कोड बताते हुए कहा कि  आरक्षण  की हालिया व्यवस्था देश के संविधान को खोखला करने का काम कर रही है।  उन्होंने कहा कि आरक्षण व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन किए जाने की जरूरत है। कार्यक्रम के संयोजक एवं आरक्षण मुक्ति दल के युवा मोर्चा महासचिव रजत शर्मा ने कहा कि आरक्षण हमारे देश के लिए एक अभिशाप है। शर्मा ने कहा कि आरक्षण व्यवस्था में बड़े स्तर पर बदलाव किए जाने की आवश्यकता है। शर्मा ने कहा कि देश में आरक्षण जाति बिरादरी के नाम पर न देकर इसे आर्थिक आधार पर लागू किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि यदि आर्थिक आधार पर आरक्षण लागू किया जाएगा तो देश की संस्थाओं में वास्तविक रूप से योग्य व्यक्ति ही पहुंच पाएंगे। धरना प्रदर्शन में संदीप द्विवेदी, मयंक पांडे, महेंद्र प्रताप, अभिषेक द्विवेदी, मनोज ठाकुर, कुलदीप ठाकुर, शशांक अग्रवाल, सचिन शर्मा, करण चौधरी, मयंक, पुनीत सूरी, घनश्याम, बिट्टू, अभिषेक पांडे एवं शैलेंद्र मुख्य रूप से उपस्थित रहे।