निष्काम परिवार द्वारा श्री प्रकाश उत्सव पर विशेष नाम सिमरन का आयोजन
September 2, 2019 • अनवर खान

मोदीनगर (अनवर ख़ान)। अपनी विशिष्ट समाज सेवाओं के लिए मशहूर संस्था निष्काम सेवक जत्था द्वारा सिक्खों के पवित्र ग्रंथ श्री गुरू ग्रंथ साहिब जी के प्रकाश उत्सव के पावन पर्व पर विशेष नाम सिमरन का आयोजन किया गया। इस मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी निरीक्षक संजीव कुमार शर्मा तथा नायब तहसीलदार अभिषेक शाही ने गुरु घर पर मत्था टेककर आशीर्वाद लिया
      संस्था के अध्यक्ष जसमीत सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि गुरू ग्रंथ साहिब जी का पहला प्रकाश पर्व उत्सव 1 सितम्बर सन 1604 में श्री हरमंदिर साहिब अमृतसर में हुआ था। जिनके पहले ग्रंथी बाबा बुड्डा जी हुए थे। इसी परंपरा को कायम रखते हुए आज 415वां प्रकाश उत्सव निष्काम परिवार द्वारा गोविंदपुरी में मनाया गया है। जिसमें संगी द्वारा नाम सिमरन, शबद कीर्तन करते हुए गुरपुरब की खुशियां मनाई गई। निष्काम धर्म प्रचार कमेटी के प्रधान अरविंद सिंह ने जानकारी दी कि इस पावन दिवस पर निष्काम परिवार के साथ साथ गुरू घर से जुड़े अन्य सभी परिवारों द्वारा अपने-अपने घर से लंगर एवं मिष्ठान तैयार कराया गया और साध संगत के साथ सभी ने एक साथ लंगर छका। इस मौके पर एसएचओ संजीव कुमार शर्मा ने कहा कि निष्काम परिवार इस तरह के आयोजन कर आने वाली पीढ़ी को गुरू घर के इतिहास की जानकारी से रूबरू तो करा ही रहा है साथ ही गुरू के बताये मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित भी कर रहा है।
       इस मौके पर जसदीप सिंह, अरूण सचदेवा, सोनू धवन, सचिन चचड़ा, मोन्टू छाबड़ा, जीतू, विनय चौहान, प्रमोद कुमार, जसपाल आहुजा, मंजीत बिन्द्रा, गुरमीत बब्बा, अनुप्रीत कौर, जतिंदर कौर, रविन्द्र सिंह, चिराग कालरा, निक्की राणा, गौरव, टविंकल आदि मौजूद थे।