उप जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर की यति नरसिहानन्द सरस्वतीजी पर लगे मुकदमें  निरस्त करने की मांग
September 26, 2019 • योगेश गौड़

मोदीनगर (योगेश गौड) । गत दिनों गाजियाबाद पुलिस द्वारा डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती एवं अनिल यादव पर दर्ज मुकदमें निरस्त करने की मांग को लेकर गुरुवार को मोदीनगर क्षेत्र के कई गांवों के ग्रामीण तहसील मुख्यालय पहुंचे और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को संबोधित करते हुए उपजिलाधिकारी मोदीनगर को एक ज्ञापन सौंपा। उप जिलाधिकारी को प्रेषित ज्ञापन में कहा गया है कि गत दिनों गाजियाबाद मैं 2 गांव बम्हेटा व अच्छेजा के लोगों के बीच किसी बात को लेकर संघर्ष हो गया था।यादव - गुर्जर बिरादरियों के बीच हुए संघर्ष को रोकने तथा दोनों पक्षों में समझौता कराने के लिए यति नरसिहानन्द सरस्वती और अनिल यादव द्वारा डासना देवी मंदिर में एक पंचायत बुलाई गई थी। पंचायत में जुटि अत्यधिक भीड़ के चलते दोनों पक्षों ने नारेबाजी शुरू कर दी थी, जिससे बौखलाई पुलिस ने यति नरसिंहानंद सरस्वती  एवं अनिल यादवपर इस सारे विवाद का ठीकरा फोड़ते हुए इन पर मुकदमा दर्ज कर यति नरसिंहानंद सरस्वती की सुरक्षा भी वापस ले ली थी। ज्ञापन सौंपने वालों ने उपजिलाधिकारी से कहा कि  वह  मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ से इस प्रकरण का संज्ञान लेने एवं उक्त मामले में यति नरसिहानन्द सरस्वती व  अनिल यादव पर मुकदमो को निरस्त करने की मांग करते हैं।

  ज्ञापन सौंपने वालों में बाबा परमेंद्र आर्य के अलावा शेखर त्यागी तलहैटा, नितेश त्यागी, सुमित त्यागी, मनीष शर्मा, रवि चौधरी, अंकित कुमार, योगेंद्र सिंह, एड धीरज कौशिक, मनोज भारद्वाज, प्रदीप कुमार, अजय चौधरी, आशीष बजरंगी, सोनू चौधरी, विशेष त्यागी, राजाराम सिंह, विवेक त्यागी, अमरजीत, लक्ष्य चौधरी, गंगाराम, भारतवीर आदि के हस्ताक्षर मौजूद थे।