इटवा तथा एनएसआइसी के संयुक्त तत्वाधान में सेमिनार का आयोजन
September 26, 2019 • अनवर ख़ान

सेमिनार के दौरान एनएसआइसी के अधिकारियों द्वारा उद्यमियों को उद्यम बढ़ाने के दिए गए टिप्स

मोदीनगर (अनवर ख़ान)। इंडस्ट्रीज एंड ट्रेडर्स वेलफेयर एसोसिएशन इटवा तथा राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित सेमिनार में सरकार द्वारा चलाई जा रही व्यापारी तथा उद्यमियों के हित हेतु विभिन्न योजनाओं से व्यापारियों को अवगत कराया गया। सेमिनार के दौरान एनएसआइसी के अधिकारियों द्वारा उद्यमियों को उद्यम बढ़ाने के गुर भी बताए गए।
         हाइवे स्थित एक रेस्टोरेंट के सभागार में आयोजित सेमिनार का शुभारंभ राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम के डीजीएम दीपक जोशी, मुख्य प्रबंधक वीरेन्द्र कुमार, इटवा के राष्ट्रीय महामंत्री प्रिंस कंसल, राष्ट्रीय वरिष्ठ मंत्री राकेश जैन, राष्ट्रीय सलाहकार समिति सदस्य एड अरूण राघव द्वारा मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया गया। निगम के डीजीएम दीपक जोशी ने उद्यमियों को बताया कि भारत सरकार का यह उपक्रम देश में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों को बढ़ावा देने, उन्हें सहायता प्रदान करने और उनके विकास को बढ़ावा देने के लिए काम कर रहा है। निगम उद्यमियों को मार्केटिंग तथा कच्चा माल खरीद में सहायता तो करता ही है। उद्यमियों को सिंगल पॉइंट पंजीकरण के तहत उद्योग बढ़ाने के लिए बिना अर्नेस्ट मनी के टेंडर भरने की सुविधा भी प्रदान करता है। उद्यमियों के उत्पादों की बिक्री हेतु देश विदेश में एक मंच उपलब्ध कराता है। साथ ही यदि उद्यमियों का लेखा-जोखा तथा प्रोजेक्ट रिपोर्ट सही प्रकार और तथ्यात्मक रूप से बनी हुई है तो उनको विभिन्न वित्तीय संस्थानों से ऋण प्रदान करवाने में सहायता करता है। मुख्य प्रबंधक वीरेंद्र कुमार ने व्यापारियों को जानकारी दी कि एनएसआईसी समय-समय पर कार्यशाला आयोजित कर उद्यमियों को उद्यम से संबंधित तकनीकी जानकारी भी उपलब्ध कराता है। उन्होंने कहा कि उद्यमी किसी निजी लैब में अपने उत्पाद की टेस्टिंग कराने की बजाय निगम के ओखला नई दिल्ली स्थित टेस्टिंग लैब में अपने उत्पाद को टेस्ट कराकर सरकार द्वारा प्रमाणित प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते हैं। इटवा के राष्ट्रीय महामंत्री प्रिंस कंसल तथा वरिष्ठ मंत्री राकेश जैन ने सेमिनार में मौजूद व्यापारियों तथा उद्यमियों को इटवा द्वारा किए जा रहे व्यापारी हित के कार्यों का वर्णन किया। सेमिनार के दौरान एड अरूण राघव ने कहा कि गत् 20 सितम्बर को दिल्ली में आयोजित जीएसटी काउंसिल की बैठक मे जीएसटी में संशोधन किया गया किंतु यह संशोधन नाकाफी है। उन्होंने मंच के माध्यम से केन्द्र सरकार से आयकर ऑडिट की अंतिम तिथि को बढ़ाने तथा जीएसटी पोर्टल पर आ रही विसंगतियो को समाप्त करने की मांग की। मंच संचालन मीडिया प्रभारी वर्षा गुप्ता ने किया।
       इस अवसर पर नगराध्यक्ष हिमांशु गुप्ता, महासचिव भानू गुप्ता, उपाध्यक्ष रूचि गुप्ता, कोषाध्यक्ष अभिषेक जैन, संयुक्त महासचिव जगदीश मदान, प्रदीप आर्य, विश्वदीप भारद्वाज, सपना भूटानी, निखिल त्यागी, प्रवीण मलिक, प्रदीप गोयल, मनीष चौधरी, राजेश गोयल, सुबोध कुमार, मनोज पान्डे, राजकुमार शिवाच, सतेन्द्र भूषण त्यागी, अनुज शर्मा समेत अनेक व्यापारी तथा उद्यमी मौजूद थे।