अनुसूचित जातियों में शामिल की गई 17 जातियों के लोगों को प्रमाण पत्र जारी न किए जाने के खिलाफ  होगा तहसील का घेराव
September 8, 2019 • योगेश गौड़

मोदीनगर (योगेश गौड़)। प्रदेश सरकार द्वारा 17 जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल किए जाने के संबंध में 3 माह पूर्व शासनादेश जारी किए जाने के बावजूद प्रमाण पत्र जारी ने किए जाने से गुस्साए लोगों द्वारा तहसील का घेराव किया जाएगा, इसकी जानकारी समाजवादी पार्टी वरिष्ठ नेता एवं अनुसूचित जाति जनजाति आयोग के सदस्य रमेश प्रजापति ने देते हुए बताया कि 3 माह पूर्व प्रदेश की भाजपा सरकार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की 17 उप जातियों को अनुसूचित जातियों में शामिल किए जाने का एलान किया था साथ ही इस संबंध में मुख्यमंत्री द्वारा शासनादेश भी जारी कर दिया गया था लेकिन आज 3 मई बीत जाने के बावजूद भी तहसील व जिला स्तर से इन उपजातियों के लोगों को प्रमाण पत्र जारी नहीं किए जा रहे हैं। इसके विरोध में सोमवार को इन तमाम 17 जातियों के लोग भारी संख्या में तहसील मुख्यालय पहुंचकर तहसील का घेराव करेंगे साथ ही मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन उप जिलाधिकारी मोदीनगर डीपी सिंह को सौंप कर जल्द से जल्द इन 17 जातियों के लोगों को जिला व तहसील स्तर से अनुसूचित जाति के प्रमाण पत्र जारी किए जाने की मांग करेंगे प्रजापति ने कहा कि यदि इस संबंध में जल्द से जल्द कोई कार्यवाही अमल में नहीं लायी जाती है तो इन 17 जातियों के लोग जिला व प्रदेश स्तर पर बड़ी संख्या में एकत्र होंगे और प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे। प्रजापति ने बताया कि धरने को सफल बनाने के लिए आस-पास के गांव में रह रहे लोगों से तहसील पहुंचकर धरने को सफल बनाने का आवाहन किया गया है।